मोदी को मजबूत प्रधानमंत्री बनाने में सबसे बड़ा योगदान किसका है ?

0
2187
कड़वी सच्चाई
कड़वी सच्चाई |kadwi sacchai |gandhi ka chashma

देश को मजबूत प्रधानमंत्री देने के लिए इटली वाली माता ने आखिर ये सब कैसे किया ?

2014  में आया मोदी तूफ़ान  

अब जरा बात करते है अपने देश की, पुरे देश में क्या कभी कोई ये सपने में सोच सकता था की कांग्रेस पार्टी के अलावा कोई पार्टी देश में 300 से ज्यादा सीटों पर जीत सरकार बना सकती है। लेकिन 2014 में ऐसा हुआ, एक तूफ़ान आया और उस तूफ़ान में पूरी कांग्रेस पार्टी उड़ गयी। नौबत यहां तक आ गयी की कहीं कांग्रेस की जड़ें तक न उखड जाए। आज भी कांग्रेस पार्टी अपनी इज़्ज़त बचाने में लगी हुई है की कहीं उसकी नीव भी न उखड जाए।

bakwas | gandhi ka chashma |rahul trolls

दुनिया का हर बड़ा नेता मोदीमय

narender modi
narender modi

प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी को आज पूरी दुनिया में कौन नहीं जानता है। पूरी दुनिया के सभी बड़े नेता मोदी को बहुत सम्मान देकर बात करते है। भारत  के साथ अपने संबंधों को सभी मजबूत करने पर लगे हुए हैं और भारत के साथ अपने व्यापर को नई उच्चाइयों तक पहुँचाना चाहतें है, तो इसका कारण सिर्फ नरेंदर मोदी ही है। मोदी का नाम सुनते ही पाकिस्तान तथा चीन के माथे पर पसीना आ जाता है । आतंकवादी थर-थर कांपते है  मोदी के नाम से। ये तो हुई मोदी की इंटरनेशनल पहचान।

सबसे ताकतवर नेता का जन्म

2001 के गुजरात भूकंप के बाद दिल्ली से गुजरात मोदी को नया मुख्यमंत्री बना कर भेजा गया था। 2002 में हुए गुजरात दंगो से पहले कोई भी नरेंदर मोदी को देश में नहीं जानता था । लेकिन गुजरात में तो दंगे हुए। जिनमें मुख्यरूप से मोदी का नाम उछाला गया। लेकिन इससे क्या मोदी का नाम पुरे देश में प्रसिद्ध हो गया था ?

जवाब है, नहीं। क्योंकि भारत के विभिन्न राज्यों में सैंकड़ों दंगे हर साल होते है

amazon.in offers on gandhi ka chashma

सोनिया गाँधी का उपकार

sonia gandhi
sonia gandhi

2013 में हुए मुज़फरनगर के दंगों के बारे कौन नहीं जानता। प्रसिद्ध होने की जगह अखिलेश सरकार 2014 तथा 2017 के चुनाव में मुंह के बल जमीन पर आ गिरी । लेकिन हम यहां बात मोदी सोनिया की कर रहें है। दंगों के बाद हुए विधानसभा चुनाव से ही मोदी की प्रसिद्धि होनी शुरू हो गयी थी। यहीं से पप्पू गाँधी की माननीय महान माता – इटली माता ने भारत के सबसे मजबूत प्रधानमंत्री की नीव रखनी शुरू की थी। इटली माता ने उन्हें राक्षस , रावण ,मौत का सौदागर जैसे नामों से अलंकृत करना शुरू कर दिया।

मोदी का यश चारों दिशाओं में

जब देश का सबसे बड़ा राजनैतिक गाँधी परिवार तथा सबसे बढ़ी कांग्रेस पार्टी ने मोदी का अपमान शुरू किया तो देश की जनता को स्वयं ही मोदी के बारे में पता चलना शुरू हो गया। देश के छोटे से छोटे और बड़े से बड़े समाचार पत्र तथा न्यूज़ चैनल में सिर्फ चर्चा का विषय सिर्फ मोदी को बना दिया। तो मोदी का कद बढ़ना स्वाभाविक था  ही क्योकि 2 साल बाद अगले 10 साल के लिए दिल्ली की गद्दी इन्हीं के पास रहने वाली थी। इसका मतलब था की मोदी की और अधिक बुराई, उनके ऊपर सीबीआई के केस, कोर्ट की जांच

click here for more bakwas

अपने यश का अंतिम मूल्यांकन

जिस तरह से एक पतंग को उड़ाते समय जितनी डोरी अपनी तरफ खींचते है पतंग उतनी ही ऊपर उड़ती चली जाती है ठीक उसी तरह मोदी को जितना कांग्रेस और सोनिया ने निचे गिराना चाहा। मोदी उस पतंग की तरह ऊपर और ऊपर उठते चले गए। 2012 तक ऐसा समय आ गया मोदी जीते तो गुजरात विधानसभ का चुनाव थे लेकिन सम्बोधित पुरे देश को कर रहे थे। इसका सीधा सा मतलब यही था की मोदी का यश पुरे देश में फ़ैल चुका था। बच्चा बच्चा मोदी को जान चुका था। इटली माता भारत के सबसे बड़े ताकतवर इंसान का निर्माण कर चुकी थी

gandhi ka chashma flipkart offer

तत्वदर्शी राजीव गाँधी

Rajiv Gandhi

धन्य है दूरदर्शी भविष्यदर्शी स्वर्गीय राजीव गाँधी जी जो इटली माता को भारत लेकर आये। अगर राजीव गाँधी भारत में इटली माता को ना लाते तो भारत को उसका सबसे ताकतवर प्रधानमंत्री तथा देश को देश का सबसे नाकारा, कोमेडियन पप्पू गाँधी कैसे मिलता। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गाँधी जी को शायद अपने पुत्र की योग्यता का पता पहले से ही चल गया था ?